नई पहलें

मुखपृष्ठ परियोजनाएँ नई पहलें

व्यूहनीतिगत परामर्शदाता

पिछले कुछ दशकों से भारत में निकर्षण क्षेत्र में डीसीआई एक प्रधान खिलाड़ी रहा है| पिछले कुछ वर्षों के दौरान, इस क्षेत्र में माँग बढ़ती गई, नये विकास के क्षेत्रआविर्भूत होते गए और नये प्रतियोगी खिला‌ड़ियों का आगमन होता गया| इस संदर्भ में,डीसीआई,भारत के अंदर और बाहर, विकास के अवसर हथियाना चाहता है,और साथ ही साथ इस क्षेत्र में एक शक्तिशाली प्रतियोगी खिलाड़ी बनना चाहता है| निकर्षण क्षेत्र में भारत सरकार के स्वप्न को साकार बनाने में डीसीआई अपनी प्रधान भूमिका को जारी रखना चाहता है|

डीसीआई अपनी दीर्घावधिक व्यूहनीतिगत योजना और विकास के विकल्पों का मूल्यांकन करने की प्रक्रिया में है|इस दिशा में डीसीआई ने निगमित व्यूहनीति परामर्श के व्यापार में प्रतिष्ठित और स्थापित हस्तियों / फ़र्मों से व्यूहनीतिगत परामर्शदाता की नियुक्ति हेतु “रुचि रखनेवालों की अभिव्यक्ति” (ईओआई) आमंत्रित की| इस अनुष्ठान का समग्र उद्देश्य है - डीसीआई के लिए विजन 2030 को परिभाषित करना और अगले 5, 10 और 15 वर्षों के लिए निम्नलिखित अंशों को शामिल करते हुए अपनी व्यूहनीति का विकास करना|


विविध राज्यों के व्यापारी संगियों का सूचीकरण

डीसीआई अपने कार्यकलापों को उथले जलीय निकर्षण और अंतर्देशीय निकर्षण के क्षेत्रों में विविधीकृत करने की योजनाएँ बना रहा है और नदियों तथा झीलों में लगाने के लिए उथले जलीय निकर्षकों के आसादन करने की प्रक्रिया में है| डीसीआई अपने अपार तकनीकी और वित्तीय क्षमताओं से राज्य / केंद्रीय सरकारी अभिकरणों द्वारा चलायमान विविध निकर्षण-संबद्ध परियोजनाओं के लिए योग्य बनने की प्रत्याशा कर रहा है|

इस दिशा में, डीसीआई ने विविध राज्यों के व्यापारी संगियों के सूचीकरण के लिए “रुचि रखनेवालों की अभिव्यक्ति” (ईओआई) आमंत्रित की| संबंधित राज्यों में विविध अभिकरणों द्वारा चलायमान / प्रदान की जानेवाली निविदाओं में ड्रेजिंग कार्पोरेशन ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड, विशाखपट्नम,भाग लेगा और ग्राहकों / संगठनों / सरकारों द्वारा निर्धारित शर्तों पर उस राज्य के व्यापारी संगी द्वारा वह कार्य संपादित किया जाएगा| कार्य निष्पादन के दौरान,डीसीआई सम्मिलित होगा और परियोजना प्रबंधन परामर्श कार्यों के साथ-साथ, समय पर कार्यों की समाप्ति सुनिश्चित करेगा|


निकर्षकों (ड्रेजरों) को भाड़े पर देना

डीसीआई अपने जलयानों – अनुगामी चूषण हॉपर निकर्षकों और कर्तक चूषण निकर्षकों – को भारत के बाहर परिनियोजित करने के लिए निकर्षण / समुद्री प्रचालन के व्यापार में प्रतिष्ठित और स्थापित हस्तियों / फ़र्मों को दीर्घकालिक तौर पर भाड़े पर देना चाहता है|

ये जलयान बिमको मानक बेर बोट चार्टर पार्टी की सामान्य शर्तों पर योग्य परिवर्धनों के साथ भाड़े पर दिए जाने के लिए उपलब्ध हैं| ये निकर्षक भारत के अंदर की देशीय निकर्षण माँग को पूरा करने के बाद भाड़े पर दिए जाने के लिए उपलब्ध हैं| जब कभी भारत में निकर्षकों के परिनियोजन की प्रतिबद्धता नहीं होती तब डीसीआई निकर्षकों को भाड़े पर देने के लिए “रुचि रखनेवालों की अभिव्यक्ति” (ईओआई) आमंत्रित करेगा|


विपणन परामर्शदाता

निकर्षण क्षमता के उपयोग को अधिकतम करने की आवश्यकता को दृष्टि में रखते हुए और भारत के बाहर विपण का विस्तार करने के लिए निगमित व्यूहनीति के अंतर्गत डीसीआई ने विदेशों में डीसीआई के व्यापार की प्रोन्नति हेतु विपणन परामर्शदाताओं की नियुक्ति के लिए “रुचि रखनेवालों की अभिव्यक्ति” (ईओआई) आमंत्रित की|

जनवरी 2016 के दौरान भारत के बाहर विपणन की खोज करने हेतु मध्य-पूर्व और सुदूर-पूर्व देशों से विपणन परामर्शदाता की नियुक्ति की गई है|